Losses in DC Generator in Hindi. Copper Losses, Iron Losses and Mechanical Losses.

DC Generator एक ऐसी machine है Mechanical Energy को DC Electrical Energy में बदलती है| Mechanical Energy से DC Electrical में बदलते समय इसमें कुछ losses भी  होते है जिनके बारे में आपको इस पोस्ट में पढ़ने को मिलेगा| अगर आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकरी पसंद आए तो कृपया करके इस पोस्ट के निचे हमको comment करके जरूर बताएं| अगर आप हमारी सभी latest पोस्ट का update पाना चाहते है, तो आप हमको Instagram पर Follow कर सकते है, क्योकि सभी latest पोस्ट हम Instagram पर update करते रहते है |

Losses in DC Generator in Hindi. Copper Losses, Iron Losses and Mechanical Losses.
Losses in DC Generator

Losses in DC Generator (डी. सी जनरेटर में हानिया)


DC Generator में mechanical energy दी जाती है और वो उस mechanical energy को electrical energy में बदलता है| dc generator के अंदर winding और core होने की वजह से इसमें कुछ हानिया (losses) भी होते है, जोकि ऊष्मा के रूप में होते है जिनकी वजह से कुछ power नष्ट हो जाती है या ख़त्म हो जाती है| इस वजह से dc generator को जितनी mechanical energy दी जाती है उससे उतनी ही electrical energy नहीं मिल पाती| मुख्य रूप से एक dc generator के अंदर तीन प्रकार के losses होते है-

  1. Copper Losses (कॉपर लॉसेस)
  2. Iron Losses (आयरन लॉसेस)
  3. Mechanical Losses (मैकेनिकल लॉसेस)

Copper Losses (कॉपर लॉसेस)


Copper Losses एक प्रकार से Variable Losses  होते है और ये losses पूरी तरह से लोड करंट पर आधारित होते है| Copper Losses पूरी तरह से Armature Winding, Field Winding और Brush में होते है|

Armature Winding (आर्मेचर वाइंडिंग)


जब DC Generator चलता है तो DC Generator के Armature Winding में Current पैदा होती है| Armature Winding का भी कुछ Resistance होता है जिसकी वजह से इसके अंदर losses होते है|

Field Winding (फील्ड वाइंडिंग)


DC Generator के field winding में भी कुछ resistance होता है जिसकी वजह से field winding में भी कुछ power losses होते है| field winding, armature के series और parallel में लगाया जाता है|

Brush Contact (ब्रश कांटेक्ट)


जब DC Generator चलता है तो उस DC Generator से बाहरी circuit में supply देने के लिए Carbon Brush का इस्तेमाल किया जाता है| Carbon Brush, के Commutator पर लगे होने की वजह से इसमें हानियां (losses) होते है, क्योकि commutator एक rotating device होती है|

Iron Losses (आयरन लॉसेस)


Iron losses एक प्रकार से constant losses होते है, इनका load current से किसी भी प्रकार का कोई लेना देना नहीं होता है, DC Generator चाहे load से कनेक्ट हो या ना हो ये एक सामान ही रहते है| Iron Losses, Armature or Field Winding की कोर्स में होते है, Iron Losses भी दो प्रकार के होते है-

  1. Hysteresis Losses (हिस्टैरिसीस लॉसेस)
  2. Eddy Current Losses (एड़ी करंट लॉसेस

Hysteresis Losses (हिस्टैरिसीस लॉसेस)


Hysteresis की वजह से होने वाले losses को Hysteresis Losses कहा जाता है, ये Armature core, और Field core में होते है|

Eddy Current Losses (एड़ी करंट लॉसेस)


Eddy Current Losses होने की वजह Armature Core और Field Core में उत्त्पन्न गर्मी होती है| Armature core और Field Core, Silicone Steel के बने होते है, हर एक silicone steel की plate एक दुसरे से पूरी तरह से laminate होती है ताकि cores के बिच का गैप ख़त्म किया जा सके और losses कम किये जा सकें, लेकिन फिर भी जब DC Generator चलता है तो उसके armature में power losses होते है जिनको eddy current losses बोला जाता है|

Mechanical Losses (मैकेनिकल लॉसेस)


जब DC Generator चलला है तो उसके अंदर कुछ mechanical parts भी rotate होते है जैसे की Bearing और Carbon Brush में Friction जिसकी वजह से इसके mechanical parts की लाइफ धीरे - धीरे कम होने लग जाती है और इनको ही Mechanical Losses बोला जाता है|

दोस्तों ये थे Losses in DC Generator हम आसा करते है की ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी और इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपके Losses in DC Generator से रिलेटेड सभी doubt clear हो गए होंगे, फिर भी अगर आपके कोई doubt है तो आप निचे comment कर सकते है, हमको ख़ुशी होगी आपके doubt clear करने में|
Losses in DC Generator in Hindi. Copper Losses, Iron Losses and Mechanical Losses. Losses in DC Generator in Hindi. Copper Losses, Iron Losses and Mechanical Losses. Reviewed by Joshi Brothers on January 04, 2019 Rating: 5

7 comments:

  1. Hyesterise losses or eddy current losses dc ganeretor k sath satg transfermar mai v hoti hai kya

    ReplyDelete
  2. It is best to operate generators only in open areas, and, whenever possible, in locations where the generators will be protected from falling debris like leaves and twigs, and from blowing rain, sleet, or snow.visit

    ReplyDelete
  3. In this article understand the most important thing, the item will give you a keyword rich link a great useful website page: iPhones outright

    ReplyDelete
  4. nice post, keep up with this interesting work. It really is good to know that this topic is being covered also on this web site so cheers for taking time to discuss this! marquise diamond suppliers

    ReplyDelete
  5. Looking forward to reading more. Great article. Really thank you!
    know more

    ReplyDelete

Powered by Blogger.